व्यापार समाचार: प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश (FDI) हुआ 72 अरब 12 करोड डॉलर का। सेंसेक्‍स और निफ्टी लुढ़के।

Business news - Image by Pixabay
Business news - Image by Pixabay

देश में वित्तवर्ष 2020-21 के पहले दस महीनों में कुल 72 अरब 12 करोड डॉलर का प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश (Foreign direct investment) हुआ और वर्ष 2019-20 की तुलना में विदेशी निवेश में 15 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हुई।

बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज का सेंसेक्‍स आज 870.51 अंक लुढ़क कर 49,159.32 पर बंद हुआ। उधर नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज का निफ्टी 229.55 अंक घटकर 14,637.80 हुआ।

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) की मौद्रिक नीति समिति की 7 अप्रैल तक चलने वाली द्विमासिक बैठक आज शुरू हो गई। रिज़र्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) बुधवार को बैठक में लिए गए निर्णयों की जानकारी देंगे। समिति देश में आर्थिक स्थिति की समीक्षा करने के साथ ही ब्याज दरों पर भी फैसला करेगी। पिछली बैठक में रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया था।

स्टैंडअप इंडिया योजना (Stand-Up India) के अंतर्गत पब्लिक सेक्टर के प्रत्‍येक बैंक की शाखा को कम से कम एक अनुसूचित जाति या अनुसूचित जनजाति के उद्य‍मी और कम से कम एक महिला उद्यमी को दस लाख से एक करोड रूपये के बीच की धनराशि ऋण के रूप में जारी करनी होगी। बैंकों ने पिछले पांच वर्षों के दौरान स्‍टैंडअप इंडिया योजना के तहत एक लाख 14 हजार से अधिक खातों में 25 हजार पांच सौ करोड रूपये से अधिक की धनराशि जारी की है।

सरकार ने कोरोना महामारी से प्रभावित सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों के लिए दिवाला और शोधन अक्षमता संहिता के प्रावधानों को आसान बनाने के लिए एक अध्यादेश जारी किया है। अध्यादेश में कहा गया है कि इन उद्यमों की अनूठी प्रकृति और सरल कॉर्पोरेट ढांचे के कारण इनके दिवालिया संबंधी प्रावधानों पर ध्‍यान देना जरूरी हो गया था।